अडानी के इस पॉवर Stock ने मचाया धमाल, मोदी के एक इशारे ने बदल डाला खेल…



WhatsApp चैनल ज्वाइन करें


Join Now

अडानी पावर ने दिखाई दी शानदार वित्तीय प्रदर्शनी, जिसके परिणामस्वरूप कंसॉलिडेटेड में पिछले वित्त वर्ष में 2738 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है। यह एक कायाकल्प के साथ मिलकर कई गुना बढ़कर है, क्योंकि पिछले साल की समान अवधि में कंपनी का प्रॉफिट सिर्फ 9 करोड़ रुपये था।

अडानी पावर के शेयर भी गुरुवार को चार फीसदी से ज्यादा की तेजी के साथ 542.50 रुपये पर पहुंच गए हैं। इस शानदार प्रदर्शन के परिणामस्वरूप, कंपनी के शेयरों ने छह महीने में ही निवेशकों का पैसा दोगुना से ज्यादा बढ़ा दिया है।अडानी पावर का यह मुनाफा उसकी सुदृढ़ वित्तीय स्थिति को दर्शाता है और उसे ऊर्जा सेक्टर में मजबूती की दिशा में बढ़त के लिए तैयार करता है।

अडानी पावर का रेवेन्यू बढ़ा, चालू वित्त वर्ष की तिमाही में 67% की वृद्धि

अडानी पावर ने दिसंबर तिमाही में दर्ज किए गए नतीजों के अनुसार, उसका रेवेन्यू चालू वित्त वर्ष की तिमाही में 67% बढ़कर 12991.4 करोड़ रुपये पहुंच गया है। यह एक साल पहले की समान अवधि में 7764.41 करोड़ रुपये के मुकाबले है। दिसंबर 2023 तिमाही में कंपनी की टोटल इनकम भी 13355 करोड़ रुपये है, जो कि एक साल पहले की समान अवधि में 8290 करोड़ रुपये रही थी।

चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में कंपनी का इबिडा (ऑपरेटिंग प्रॉफिट) भी 151 पसेंट बढ़कर 5009.17 करोड़ रुपये रहा है, जो कि एक साल पहले की समान अवधि में 1995.53 करोड़ रुपये के मुकाबले है। यह उच्चतम रेवेन्यू और मुनाफे के साथ अडानी पावर की उत्कृष्टता को दर्शाता है और ऊर्जा सेक्टर में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका में सुदृढ़ी कर रहा है।

अडानी पावर के शेयरों में 6 महीने में 113% की तेजी, कंपनी का नया रिकॉर्ड

अडानी पावर के शेयरों में पिछले 6 महीनों में लगातार तेजी आई है। 26 जुलाई 2023 को शेयर 255.45 रुपये पर थे, जो 25 जनवरी 2024 को 542.50 रुपये तक पहुंच गए हैं। इस दौरान अडानी पावर के शेयरों में 113% की तेजी दर्ज की गई है। यह स्थापित करता है कि बाजार ने कंपनी के विशेष एवं उच्चतम नतीजों को स्वीकारा किया है और निवेशकों का विश्वास बढ़ाया है।

पिछले 3 सालों में भी अडानी पावर के शेयरों में 957 पसेंट की तेजी दर्ज की गई है। जनवरी 2021 में शेयर 51.30 रुपये पर थे, और वर्तमान में 542.50 रुपये हैं। इसमें कंपनी के 52 हफ्ते के उच्चतम स्तर की भी शामिल है, जो 589.30 रुपये है, जबकि न्यूनतम स्तर 132.55 रुपये है। अडानी पावर के शेयरों में इस तरह की वृद्धि ने निवेशकों को अच्छा मुनाफा दिलाया है और बाजार में उच्च प्रतिस्पर्धा को दर्शाया है, जिससे कंपनी ने अपने नए रिकॉर्ड को स्थापित किया है।

Disclaimer: A1Factor.Com पोस्ट के माध्यम से लोगों में फाइनेंशियल एजुकेशन प्रोवाइड कराता है। म्‍यूचुअल फंड और शेयर मार्केट निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। हम सब SEBI से पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। आप अपने पैसे को निवेश करने के लिए स्वतंत्र है। कृपया अपनी समझदारी और सूझ बूझ के साथ ही निवेश करें। निवेश करने से पहले पंजीकृत एक्सपर्ट्स की राय जरूर लें।



Source link

Leave a Comment