अडानी ग्रीन Energy शेयर का बढ़ा भाव, जानें डिटेल्स » A1 Factor


अडानी ग्रीन एनर्जी ने तीसरी तिमाही में दिखाए गए परिणामों के मुताबिक, 2023-24 वित्त वर्ष की तीन महीनों में नेट प्रॉफिट को 148 प्रतिशत से अधिक बढ़ाकर 256 करोड़ रुपये तक पहुंचाया है। इस समय कंपनी के पिछले वित्त वर्ष की समयक्रम में प्रॉफिट 103 करोड़ रुपये था।


WhatsApp चैनल ज्वाइन करें


Join Now

इसके साथ ही, अडानी ग्रीन एनर्जी के शेयर ने आज सोमवार को 5.1 प्रतिशत की उच्चतम चढ़ाव देखा और इंट्रा डे हाई पर 1750 रुपये पहुंच गए। कंपनी के शेयर 52 हफ्तों के उच्च स्तर के पास पहुंच गए हैं और इसका 52 हफ्तों का न्यूनतम मूल्य 439.35 रुपये है।

इस समय कंपनी का मार्केट कैप 2,71,851.65 करोड़ रुपये है, जो उच्च स्तर पर बना हुआ है। इसमें शामिल होने वाले उत्पादों और सेवाओं की मांग के साथ-साथ, अडानी ग्रीन एनर्जी की निरंतर विकास की ओर साकारात्मक कदम बढ़ा रहा है।

Adani Green Energy share
Adani Green Energy share

अडानी ग्रीन एनर्जी ने घोषित की बड़ी आय की वृद्धि, अमित सिंह ने किया बयान

भारत की एक अग्रणी ऊर्जा कंपनी, अडानी ग्रीन एनर्जी ने तीसरी तिमाही में दिखाई गई बेहतरीन आर्थिक प्रदर्शन के साथ कुल आय को 2,675 करोड़ रुपये बढ़ाकर बताई है, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में 2,256 करोड़ रुपये थी।

कंपनी के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईजो) अमित सिंह ने एक बयान में कहा, “हमने हाल ही में घोषित इक्विटी तथा ऋण पूंजी वृद्धि के साथ 2030 तक लक्षित 45 गीगावॉट क्षमता के लिए एक अच्छी तरह से सुरक्षित विकास पथ के लिए पूंजी प्रबंधन ढांचा तैयार किया है।

इस बयान के माध्यम से कंपनी ने अपनी ऊर्जा उत्पादन क्षमता में बड़ी वृद्धि के साथ आगामी दशक में ऊर्जा स्वावलंबन की दिशा में गति बढ़ाने का एक योजना प्रस्तुत की है। अडानी ग्रीन एनर्जी ने रोपर बाजार को यह जानकारी दी कि उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार और ऊर्जा स्वावलंबन की दिशा में कदम बढ़ाने का संकेत है।

अडानी ग्रीन एनर्जी: स्थानीयकरण और ऊर्जा स्वावलंबन की दिशा में मजबूत कदमें

अडानी ग्रीन एनर्जी ने अपने ताजगी भरे बयान में बताया कि उन्होंने स्थानीयकरण, बड़े पैमाने पर डिजिटलीकरण, कार्यबल विस्तार और योग्यता निर्माण पर जोर देते हुए एक लचीली आपूर्ति श्रृंखला पर ध्यान केंद्रित करके अपनी निष्पादन क्षमता को बढ़ाने का संकेत दिया है।

कंपनी के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईजो) अमित सिंह ने बताया, “हम स्थानीयकरण, बड़े पैमाने पर डिजिटलीकरण, कार्यबल विस्तार और योग्यता निर्माण पर जोर देने के साथ एक लचीली आपूर्ति श्रृंखला पर ध्यान केंद्रित करके अपनी निष्पादन क्षमता को बढ़ाना जारी रख रहे हैं।”

इसके साथ ही, अडानी ग्रीन एनर्जी गुजरात के खावड़ा में दुनिया का सबसे बड़ा नवीकरणीय ऊर्जा संयंत्र स्थापित करने का काम कर रही है। कंपनी की परिचालन क्षमता सालाना आधार पर 16 प्रतिशत बढ़कर 8,478 मेगावाट हो गई है। अप्रैल-दिसंबर 2023 की अवधि में बिजली की बिक्री सालाना आधार पर 59 प्रतिशत बढ़कर 16,29.3 यूनिट हो गई है।

यह बयान दिखाता है कि अडानी ग्रीन एनर्जी ने नहीं केवल आर्थिक स्थिति में सुधार किया है, बल्कि वह आगामी दशक में ऊर्जा स्वावलंबन की दिशा में गति बढ़ाने के लिए भी कठिनाईयों का सामना कर रही है।

Disclaimer: A1Factor.Com पोस्ट के माध्यम से लोगों में फाइनेंशियल एजुकेशन प्रोवाइड कराता है। म्‍यूचुअल फंड और शेयर मार्केट निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। हम सब SEBI से पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। आप अपने पैसे को निवेश करने के लिए स्वतंत्र है। कृपया अपनी समझदारी और सूझ बूझ के साथ ही निवेश करें। निवेश करने से पहले पंजीकृत एक्सपर्ट्स की राय जरूर लें।



Source link

Leave a Comment