अम्बानी ने लगाया इस स्टॉक पर दाँव ! खरीदने की मची लूट, जानें डिटेल्स



WhatsApp चैनल ज्वाइन करें


Join Now

आलोक इंडस्ट्रीज लिमिटेड के शेयरों ने इस साल धमाकेदार प्रदर्शन किया है, जो आज 10% तक की तेजी के साथ 33.15 रुपये पर पहुंच गए हैं। इस स्टॉक ने 2 जनवरी से तेजी का रुख बनाए रखा है और महीने भर में शेयर मूल्य में 51.49% की वृद्धि हुई है। 9 जनवरी को, इस शेयर ने अपने 52 हफ्ते के उच्चतम मूल्य ₹39.05 प्रति शेयर तक पहुंच गया था, जबकि इसका 52 हफ्ते का न्यूनतम मूल्य 10.07 रुपये है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, इस शेयर के प्रति चल रहे बुलिश संकेतों के चलते निवेशकों को बड़ी उम्मीद है।

इस सुधारते हुए शेयर का भविष्य उज्ज्वल है और निवेशकों को ध्यान में रखना चाहिए। आलोक इंडस्ट्रीज के इस उत्कृष्ट प्रदर्शन के पीछे मुख्य कारणों में से कुछ शामिल हैं – विशेषज्ञों की सलाह, बाजार में स्थिरता, और कंपनी के कारोबारी मॉडल की मजबूती इस उछालदार माहौल में, निवेशकों को सतर्क रहना और बाजार की नजरों को इस आलोक इंडस्ट्रीज लिमिटेड के शेयर पर बनाए रखना उचित है।

आलोक इंडस्ट्रीज: शॉर्ट टर्म में तेजी की उम्मीदें बढ़ रही हैं

शेयर बाजार के एक्सपर्टों के अनुसार, आलोक इंडस्ट्रीज के शेयर में शॉर्ट टर्म में एक बड़ी तेजी की संभावना है, जिसका मूल्य ₹48 प्रति शेयर तक पहुंच सकता है। रिसर्च हेड अविनाश गोरक्षकर के अनुसार, रिलायंस इंडस्ट्रीज ने इस कंपनी में ठोस निवेश किया है, जो शेयरों में वृद्धि की संकेत दे रहा है।

चॉइस ब्रोकिंग के कार्यकारी निदेशक सुमीत बगाड़िया के अनुसार, आलोक इंडस्ट्रीज के शेयरों में तेजी का रुझान है और निवेशकों को यह अवसर बर्ताव करने का सुझाव दिया जा रहा है। इस शेयर को ₹33 के स्टॉप लॉस के साथ ₹44 के टारगेट प्राइस तक के लिए पोर्टफोलियो में शामिल किया जा सकता है।

शेयर की मूल्य स्तर को पार करने के बाद, यह उम्मीद है कि शेयर शीघ्र ही ₹48 प्रति शेयर तक पहुंच सकता है। इस उम्मीदभरे मौके में, निवेशकों को अपनी नजरें आलोक इंडस्ट्रीज के शेयरों पर बनाए रखना चाहिए।

आलोक इंडस्ट्रीज: दिसंबर तिमाही के नतीजे में आई कमी

आलोक इंडस्ट्रीज ने अपने Q3 FY24 नतीजों की घोषणा की है, जिसमें टॉपलाइन में 28.34% की कमी आई है और घाटा 7.97% साल दर साल कम हो गया है। पिछली तिमाही के साथ राजस्व में 8.69% की गिरावट हो गई है और घाटा 31.51% बढ़ गया है।

इस तिमाही-दर-तिमाही, बिक्री, सामान्य और प्रशासनिक खर्चों में 15.41% की गिरावट हुई है और साल-दर-साल 20.19% की कमी आई है। परिचालन आय में तिमाही-दर-तिमाही 99.6% की कमी हुई है और वर्ष-दर-वर्ष 36.41% की वृद्धि हुई है।

Q3 FY24 के लिए प्रति शेयर लाभ (EPS) ₹-0.46 है, जो साल-दर-साल 7.87% बढ़ी है। इसे मजबूती के साथ देखते हुए, कंपनी ने उच्च स्तर पर समर्थन बनाए रखने का प्रयास किया है और निवेशकों को विश्वास दिलाया है कि वे उनके लंबे समय के निवेश को लेकर सकारात्मक दृष्टिकोण बनाए रख सकते हैं।

Disclaimer: A1Factor.Com पोस्ट के माध्यम से लोगों में फाइनेंशियल एजुकेशन प्रोवाइड कराता है। म्‍यूचुअल फंड और शेयर मार्केट निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। हम सब SEBI से पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। आप अपने पैसे को निवेश करने के लिए स्वतंत्र है। कृपया अपनी समझदारी और सूझ बूझ के साथ ही निवेश करें। निवेश करने से पहले पंजीकृत एक्सपर्ट्स की राय जरूर लें।



Source link

Leave a Comment