अर्श से आ गया फर्श पर, निवेशकों में दिखा बवाल ! ₹2700 से टूटकर ₹11 पर आया यह शेयर


रिलायंस कैपिटल के शेयर आज सोमवार को कारोबार के दौरान ध्यान केंद्रित रहे। कंपनी के शेयरों में लगातार गिरावट का सामना किया गया है। आज कंपनी के शेयर 5% तक टूट गए और 11.78 रुपये पर पहुंच गए। इसके पीछे खबर है कि रिलायंस कैपिटल के प्रशासक ने रिलायंस जनरल इंश्योरेंस के बोर्ड को पत्र लिखकर कंपनी के4 प्रमुख अधिकारियों को ₹118 करोड़ के भुगतान के प्रावधानों पर आपत्ति जताई है।


WhatsApp चैनल ज्वाइन करें


Join Now

यह प्रावधान रिलायंस जनरल इंश्योरेंस ने किया है। इस घटना ने निवेशकों की संदेह और असमंजस को और बढ़ा दिया है। उन्हें इस स्थिति का ध्यान रखकर सावधानी से निवेश के निर्णय लेना चाहिए। कंपनी के आगामी बैठक की जानकारी की देने से पहले बाजार में और भी गतिशीलता देखने की उम्मीद है।

रिलायंस कैपिटल: निदेशक मंडल की बैठक में ताजगी

रिलायंस कैपिटल लिमिटेड ने हाल ही में बताया कि उनकी निदेशक मंडल की बैठक का तिथि में परिवर्तन किया गया है। पहले यह बैठक 10 फरवरी को होने वाली थी, लेकिन अब यह 14 फरवरी 2024 को होगी। 

इस बैठक में कंपनी के दिसंबर तिमाही के नतीजों के साथ-साथ चालू वित्त वर्ष के नौ महीने के नतीजे भी जारी किए जाएंगे। यह बैठक कंपनी के निदेशकों को विभिन्न चुनौतियों और अवसरों के बारे में चर्चा करने का मौका देगा और उन्हें कंपनी की दिशा-निर्देश तय करने में मदद करेगा।

इस बैठक के माध्यम से, निदेशक मंडल की गतिविधियों में ताजगी आएगी और निर्णयों को लेकर कंपनी की प्रगति पर प्रकाश डाला जाएगा। यह निदेशकों के बीच समन्वय और समझौते को मजबूत करेगा, जो कंपनी के विकास और उन्नति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

शेयरों का वर्तमान स्थिति: एक झलक

निवेशकों के लिए यह शेयर की कीमत में बड़ी गिरावट का संकेत है। शेयर की कीमत में इतनी बड़ी कमी दरअसल विभिन्न कारणों से हो सकती है, जैसे कंपनी के आर्थिक स्थिति, बाजार की प्रतिक्रिया, और उच्च रिस्क के कारण।

रिलायंस कैपिटल के शेयरों की कीमत में दरकिनार कमी का संकेत है। साल 2008 में इसकी कीमत 2700 रुपये प्रति शेयर थी, जबकि आज की तारीख में यह शेयर केवल 11.78 रुपये पर है। इससे साफ होता है कि लंबी अवधि में इस शेयर की कीमत में 99 प्रतिशत की गिरावट आई है।

इसका 52 हफ्तों का उच्चतम मूल्य 15.16 रुपये है, जबकि 52 हफ्तों का निम्नतम मूल्य 7.60 रुपये है। कंपनी का मार्केट कैप 297.69 करोड़ रुपये है, जो इसके बाजारी मूल्य को दर्शाता है।

इस जानकारी से पता चलता है कि रिलायंस कैपिटल के शेयरों में विपरीत गति आई है और निवेशकों के बीच उतार-चढ़ाव दिखा है। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं, जिसमें बाजार की स्थिरता, कंपनी के वित्तीय प्रदर्शन, और विभिन्न घटकों का प्रभाव शामिल हो सकता है। निवेशकों को ध्यान में रखते हुए शेयरों के संबंध में सावधानी बरतनी चाहिए।

अनिल अंबानी की हिस्सेदारी: एक झलक

रिलायंस कैपिटल में अनिल अंबानी के पास मामूली हिस्सेदारी है, जो केवल 0.88% है। इसके विपरीत, पब्लिक शेयरहोल्डिंग 98.49% है, जो काफी अधिक है। इंडिविजुअल प्रमोटर्स के रूप में अनिल अंबानी के परिवार के पास कुछ शेयर हैं, लेकिन उनकी हिस्सेदारी अब जीरो है।

अनिल अंबानी की पत्नी टीना अंबानी के पास 2,63,474 शेयर हैं, जबकि उनके बेटे जय अनमोल अंबानी के पास कंपनी के 28,487 शेयर हैं। रिलायंस कैपिटल के प्रमोटर ग्रुप के पास कुल 19,34,405 शेयर हैं।

यह जानकारी दिखाती है कि अनिल अंबानी का दिलचस्प योगदान कंपनी के शेयरहोल्डरों के साथ मुकाबला करने के लिए कम है, लेकिन वह अभी भी कंपनी के प्रमोटर के रूप में सक्रिय हैं। इसे उनके परिवार के अन्य सदस्यों के साथ मिलाकर देखा जा सकता है, जो उनके वित्तीय और व्यवसायिक हितों के लिए काम कर रहे हैं।

Disclaimer: A1Factor.Com पोस्ट के माध्यम से लोगों में फाइनेंशियल एजुकेशन प्रोवाइड कराता है। म्‍यूचुअल फंड और शेयर मार्केट निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। हम सब SEBI से पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। आप अपने पैसे को निवेश करने के लिए स्वतंत्र है। कृपया अपनी समझदारी और सूझ बूझ के साथ ही निवेश करें। निवेश करने से पहले पंजीकृत एक्सपर्ट्स की राय जरूर लें।



Source link

Leave a Comment