आज टैक्स पेयर्स के लिये आएगी बड़ी अपडेट


भारतीय आयकर प्रणाली में वित्त वर्ष 2023-24 के लिए दो प्रकार की कर व्यवस्था – पुरानी और नई, का विकल्प मौजूद है. पुरानी व्यवस्था में आयु और आय के आधार पर विभिन्न स्लैब हैं, जबकि नई व्यवस्था में अधिक लचीले स्लैब और दरें हैं, जिससे करदाताओं को अपनी आय पर कम टैक्स देने का मौका मिलता है.


Income Tax Slabs

पुरानी व्यवस्था में, व्यक्तिगत, वरिष्ठ और अति वरिष्ठ नागरिकों के लिए अलग-अलग स्लैब हैं. दूसरी ओर, नई व्यवस्था में स्लैब कम आय वालों से लेकर उच्च आय वाले व्यक्तियों तक विभिन्न दरों पर निर्धारित हैं.


Budget Expectations

हेल्थ सेक्टर और कैपिटल गेन टैक्स पर सरकार के फोकस के चलते आने वाले बजट में कुछ बदलावों की उम्मीद है. इनमें 80D के अंतर्गत डिडक्शन लिमिट और कैपिटल गेन टैक्स को सरल बनाने के प्रस्ताव शामिल हैं.

Health Deductions

आज के बजट में, हेल्थ सेक्टर पर जोर दिए जाने की संभावना है, जिसमें 80D के तहत डिडक्शन लिमिट में बढ़ोतरी शामिल हो सकती है, जिससे व्यक्तिगत और वरिष्ठ नागरिकों को अधिक लाभ मिल सके.


Simplifying Capital Gains

कैपिटल गेन टैक्स को आसान बनाने की मांग लंबे समय से की जा रही है, जिससे आम आदमी के लिए इसे समझना और सरल हो सके, और शेयर बाजार से जुड़े लोगों को अधिक छूट मिल सके.

इस प्रकार का कंटेंट आधुनिक भाषा और सहज उदाहरणों के साथ वित्तीय जानकारी को समझने में आसान बनाता है, जिससे हर उम्र और पृष्ठभूमि के लोगों के लिए यह अधिक सुलभ हो जाता है.



Source link

Leave a Comment