इस एनर्जी शेयर ने रचा इतिहास ! सरकार के एक फैसले ने बदल डाला पूरा खेल…


आज शुक्रवार को सुजलॉन एनर्जी के शेयरों ने अपने कारोबार के दौरान एक नया रिकॉर्ड हाई दर्ज किया है। इंडियन रिन्यूएबल एनर्जी कंपनी सुजलॉन के शेयर बीएसई पर 5% चढ़कर 50.72 रुपये के 52 हफ्ते के उच्च स्तर पर पहुंच गए हैं। कुछ सत्रों से सुजलॉन एनर्जी के शेयरों में मजबूत तेजी की तस्वीर आ रही थी, जिसके चलते आज पहली बार इसने ₹50 के स्तर को पार कर लिया है। गुरुवार को बजट डे पर भी इस शेयर में 5% का अपर सर्किट लगा था।


WhatsApp चैनल ज्वाइन करें


Join Now

सुजलॉन एनर्जी के शेयर ने आज शुरुआती कारोबार में 12 साल के हाई पर पहुंचकर एक और मील का पत्थर रखा है। इस मौके पर यह जरूरी है कि सुजलॉन एनर्जी के स्टॉक की मूल्यीन आखिरी बार 5 अगस्त 2011 को 50 रुपये के स्तर पर पहुंचा था, जब यह बीएसई पर 50.25 रुपये तक पहुंच गया था।

सौर ऊर्जा में सरकारी योजना से हो सकता है बाजार पर प्रभाव

वित्त मंत्री ने हाल ही में प्रस्तुत किए गए बजट में ‘प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना’ के तहत एक बड़ा प्रस्ताव रखा है, जिससे 1 करोड़ घरों में सोलर पैनल की स्थापना के लिए सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत, हर महीने 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली मिलेगी, जिससे प्रत्येक परिवार को सालभर में 18,000 रुपये की बचत होगी।

यह पहल का कदम है जिससे गरीब और मध्यम वर्ग के परिवारों को सस्ती बिजली का लाभ मिलेगा और सोलर ऊर्जा के प्रचार-प्रसार को बढ़ावा मिलेगा। इससे सोलर एनर्जी कंपनियों को भी बड़ा मार्गदर्शन मिलेगा और उन्हें नए ग्राहकों की तरफ आकर्षित करने का एक और उत्कृष्ट अवसर मिलेगा। इस योजना के लागू होने से सौर ऊर्जा कंपनियों की सकारात्मक प्रभाव हो सकती है और इसका बाजार पर अच्छा प्रभाव पड़ सकता है। सोलर एनर्जी सेक्टर में नए विकासों के साथ, यह योजना बाजार में सुजलॉन एनर्जी और अन्य समान कंपनियों के शेयर पर पॉजिटिव दबाव बना सकती है।

सुजलॉन एनर्जी: 160% मुनाफा के साथ सत्ता में

सुजलॉन एनर्जी ने हाल ही में दिसंबर तिमाही में अपने आंकड़ों के माध्यम से बड़ी उम्मीद की गई है। कंपनी ने इस तिमाही में नेट प्रॉफिट में 160% की वृद्धि की है और उसकी आमदनी 203.04 करोड़ रुपये हो गई है। इससे पहले, 2022-23 की समान अवधि में कंपनी ने 78.28 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट दर्ज किया था, जो इस बार के आंकड़ों के मुकाबले कम है।

सुजलॉन एनर्जी की तीसरी तिमाही की कुल आय में भी वृद्धि हुई है और इससे उसकी कुल आय 1,569.71 करोड़ रुपये तक पहुंची है। इसके मुकाबले, पिछले वर्ष यही समय विवरण में 1,464.15 करोड़ रुपये की कमाई हुई थी।

यह आंकड़े दिखाते हैं कि कंपनी ने अपने कारोबार में मजबूती दिखाई है और नए आर्थिक वर्ष में भी उम्मीद की जा रही है। इस शानदार प्रदर्शन के साथ, सुजलॉन एनर्जी ने शेयर बाजार में अपनी प्रतिष्ठा बनाए रखी है और निवेशकों को और भी उत्कृष्टता की दिशा में देखने का एक अच्छा मौका प्रदान किया है।

सुजलॉन एनर्जी: ऐतिहासिक मुनाफा और सुधारी आर्थिक स्थिति

सुजलॉन एनर्जी ने दिसंबर तिमाही में अपने चलते भारी मुनाफा हासिल किया है, जो निर्माण और निविदाएं करने वाली भारतीय कंपनी के लिए एक बड़ी बात है। इस समययात्रा में, उनकी आमदनी में 160% की वृद्धि हो रही है, जिससे कंपनी को तीसरी तिमाही में 203.04 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट हुआ है।

इस मुनाफे की वृद्धि का प्रमुख कारण सुजलॉन एनर्जी के चलते बीते वित्त वर्ष की समान तिमाही की 78.28 करोड़ रुपये की कमाई का मुकाबला करना है, जिसे उन्होंने दिसंबर तिमाही में 203.04 करोड़ रुपये में बढ़ा दिया है।

इस साथ, उनकी कुल आय में भी बढ़ोतरी हुई है, जो तीसरी तिमाही में 1,569.71 करोड़ रुपये की है, जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 1,464.15 करोड़ रुपये थी। इस शानदार आर्थिक प्रदर्शन ने सुजलॉन एनर्जी को शेयर बाजार में एक नई ऊचाई प्राप्त करने का मौका दिया है, जो निवेशकों के लिए एक बड़ी खुशखबरी है।

सुजलॉन एनर्जी शेयर: विस्तार करते हुए नई ऊचाई की दिशा

सुजलॉन एनर्जी के शेयर का नया उच्चतम स्तर दर्ज करते हुए, च्वाइस ब्रोकिंग के कार्यकारी निदेशक सुमीत बगाड़िया ने बताया कि चार्ट पैटर्न से सुजलॉन के शेयर की कीमत में सकारात्मक दिशा है। वित्तीय वर्ष के आगामी महीनों में इसमें और बढ़ोतरी की उम्मीद है, जिससे निवेशकों को आगे की संभावनाओं का लाभ हो सकता है।

सुमीत बगाड़िया ने सुजलॉन शेयर को अपने पास रखने की सलाह दी है और स्टॉप लॉस बनाए रखने की सिफारिश की है। उनका कहना है कि सुजलॉन के शेयर शॉर्ट टर्म में ₹55 और ₹60 प्रति शेयर के स्तर तक पहुंच सकते हैं, जिससे निवेशकों को अच्छा मुनाफा हो सकता है।

इसके साथ ही, जेएम फाइनेंशियल ने भी शेयर के लिए एक लक्ष्य तय किया है, जिसमें ₹54 प्रति शेयर शामिल है। इस आंकड़े के अनुसार, सुजलॉन के शेयर में और भी उच्चतम स्तरों की संभावना है, जो निवेशकों को आत्मविश्वास दिखा रहा है। इस वर्ग में सुजलॉन ने योजनाएं बदलकर अपने वित्तीय प्रदर्शन को सुधारा है और निवेशकों को साबित कर रहा है कि यह एक मुनाफासंद विकल्प हो सकता है।

Disclaimer: A1Factor.Com पोस्ट के माध्यम से लोगों में फाइनेंशियल एजुकेशन प्रोवाइड कराता है। म्‍यूचुअल फंड और शेयर मार्केट निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। हम सब SEBI से पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। आप अपने पैसे को निवेश करने के लिए स्वतंत्र है। कृपया अपनी समझदारी और सूझ बूझ के साथ ही निवेश करें। निवेश करने से पहले पंजीकृत एक्सपर्ट्स की राय जरूर लें।



Source link

Leave a Comment