इस Energy शेयर कंपनी पर फ़िदा हुए विदेशी निवेशक, अम्बानी ने भी लगाया बड़ा दांव


एनर्जी सेक्टर की कंपनी, स्टर्लिंग एंड विल्सन रिन्यूएबल एनर्जी लिमिटेड के शेयरों में गुरुवार को भारी तेजी आई है। इस शेयर में 5% का अपर सर्किट लगा और भाव 576.30 रुपये पर पहुंच गया है, जो कि शेयर के 52 हफ्ते का नया उच्च स्तर है। इसमें पिछले छह ट्रेडिंग डे में 28% की वृद्धि दर्ज की गई है, जिससे निवेशकों को बड़ा मुनाफा हुआ है।


WhatsApp चैनल ज्वाइन करें


Join Now

19 अक्टूबर को यह शेयर गिरकर 52 हफ्ते के निचले स्तर पर पहुंचा था, जब भाव 253.45 रुपये थे, और इसके बाद से इसमें वापसी हुई है। यह तेजी नए उच्च स्तर पर पहुंचने का संकेत देती है, जिससे निवेशकों में आत्मविश्वास बढ़ा है। स्टर्लिंग एंड विल्सन रिन्यूएबल एनर्जी के शेयरों में इस समय की तेजी ने उच्चतम और न्यूनतम स्तरों के बीच बाजार में गहरी प्रवृद्धि की है, जो निवेशकों के लिए एक बड़ी सौगात है।

शेयरहोल्डिंग पैटर्न: स्टर्लिंग एंड विल्सन रिन्यूएबल एनर्जी का बदलता दृष्टिकोण

दिसंबर 2023 तिमाही के शेयरहोल्डिंग डेटा के आधार पर पाया गया है कि स्टर्लिंग एंड विल्सन रिन्यूएबल एनर्जी के शेयरों में तेजी आई है। विदेशी संस्थागत निवेशक (FII) ने पिछली तिमाही के मुकाबले अपनी हिस्सेदारी को 8% बढ़ा दिया है। सितंबर 2023 तिमाही तक इस ग्रीन एनर्जी शेयर में FII की 3.38% हिस्सेदारी थी, जिसमें इस तिमाही की वृद्धि को माना जा सकता है।

कुछ अन्य महत्वपूर्ण हिस्सेदारी बदलावों में गोल्डमैन सेक्स फंड, ईस्ट ब्रिज कैपिटल मास्टर फंड आई लिमिटेड, और टू कैपिटल लिमिटेड ने भी पिछली तिमाही में कंपनी में हिस्सेदारी खरीदी है। इन संस्थागत निवेशकों का इस नए विकास में शामिल होना निवेशकों के बीते कुछ महीनों में कमाई के अवसरों की पुनरावृत्ति की संकेत हो सकती है। यह शेयरहोल्डिंग पैटर्न कंपनी के विकास और निवेश के संकेत के रूप में उत्साहजनक माना जा सकता है, जिससे आगामी समय में निवेशकों को बड़ा फायदा हो सकता है।

कंपनी के तिमाही नतीजे: विवेचन और दिशा

18 जनवरी को स्टर्लिंग एंड विल्सन रिन्यूएबल एनर्जी ने जारी किए गए तिमाही नतीजों के आधार पर दिसंबर 2023 के दौरान कंपनी ने हाई रेवेन्यू सालाना आधार पर 99.15 करोड़ रुपये से कम होकर 62.39 करोड़ रुपये प्राप्त किए हैं। यह संकेत है कि कंपनी ने इस अवधि में विशेष उत्साह दिखाया है और कुशल निर्देशन में अग्रसर हो रही है।

कुल आय में 46% की वृद्धि होने के साथ, जो एक साल पहले समान अवधि में 417.65 करोड़ रुपये थी, यह साबित करता है कि कंपनी अपने आय में मजबूत वृद्धि दर्ज कर रही है और विभिन्न सेगमेंट्स में सफलता प्राप्त कर रही है। इस सकारात्मक प्रगति के बावजूद, कंपनी ने अपने हाई रेवेन्यू को 62.39 करोड़ रुपये की स्तर पर कम किया है, जो उच्चतम गुणवत्ता और मानकों का आदान-प्रदान करता है।

इससे यह सुनिश्चित होता है कि कंपनी ने अपने आर्थिक प्रबंधन में सावधानी बनाए रखी है और अपने उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए सकारात्मक कदम उठाए हैं। इससे निवेशकों को आत्मविश्वास हो सकता है कि कंपनी ने सही दिशा में प्रगति कर रखी है और आगामी कारोबारी क्षेत्रों में उभरने का योजना बना रखा है।

स्टर्लिंग एंड विल्सन रिन्यूएबल एनर्जी: उच्च निगमिता और ब्राइट भविष्य की दिशा में

नुवामा ब्रोकरेज ने तीसरी तिमाही की आर्थिक प्रदर्शन के बाद स्टर्लिंग एंड विल्सन रिन्यूएबल एनर्जी के लिए एक उच्च लक्ष्य प्राप्त करते हुए अपना टारगेट प्राइस 620 रुपये प्रस्तुत किया है। नुवामा के अनुसार, कंपनी ने क्यूआईपी/क्षतिपूर्ति आय का सफल उपयोग करके अपने लोन को काफी हद तक घटाया है और 27 मिलियन रुपये का विनामूल्यकरण कर दिया है।

उन्होंने जोड़ा कि कंपनी का कुल ऑर्डर फ्लो 2,400 करोड़ रुपये से अधिक है, जिससे ऑर्डर बुक और मजबूत हो रहा है। इससे स्पष्ट होता है कि बाजार ने कंपनी के भविष्य की दिशा में विश्वास जताया है और नुवामा ब्रोकरेज ने इसे साबित करने के लिए उच्च टारगेट प्राइस को बनाए रखा है।

कंपनी ने दिसंबर में क्यूआईपी के जरिए 1,500 करोड़ रुपये जुटाए, जो उसके वित्तीय स्थिति को और बनाए रखने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। यह सुनिश्चित करता है कि कंपनी अपनी सकारात्मक गतिविधियों को बढ़ावा दे रही है और उच्च टारगेट प्राइस उसकी मजबूती की चिन्ह है।

स्टर्लिंग एंड विल्सन रिन्यूएबल एनर्जी: शक्तिशाली और विश्वसनीय ऊर्जा समाधान

स्टर्लिंग एंड विल्सन रिन्यूएबल एनर्जी एक अग्रणी और सुधारक रिन्यूएबल इंजीनियरिंग और निर्माण सॉल्युशन्स प्रदान करने वाली कंपनी है। इसका क्षेत्र विश्व भर में फैला हुआ है, शानदार ऊर्जा परियोजनाओं के साथ देशों की सूर्यमय भूमि में। कंपनी की स्थिति 29 देशों में है, जो इसे एक वैश्विक खिलाड़ी बनाती है। इसके प्रमोटर्स का प्रतिष्ठान्ता में बड़ा हिस्सा है, और इसमें मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस न्यू एनर्जी लिमिटेड की भी हिस्सेदारी शामिल है।

कंपनी की 52.98% हिस्सेदारी प्रमोटर्स के पास है, जिसमें रिलायंस न्यू एनर्जी लिमिटेड की 32.56% शामिल है। यह इसे भारत में ऊर्जा समाधानों के लिए एक प्रमुख खिलाड़ी बनाता है। स्टर्लिंग एंड विल्सन रिन्यूएबल एनर्जी ने अपनी अभूतपूर्व और आधुनिक प्रौद्योगिकी के साथ प्रमिलित होकर ऊर्जा समाधानों में नई ऊर्जा की दिशा में कदम से कदम मिलाया है, जो इसे एक सुदृढ़ और विश्वसनीय ब्रांड बनाता है।

Disclaimer: A1Factor.Com पोस्ट के माध्यम से लोगों में फाइनेंशियल एजुकेशन प्रोवाइड कराता है। म्‍यूचुअल फंड और शेयर मार्केट निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। हम सब SEBI से पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। आप अपने पैसे को निवेश करने के लिए स्वतंत्र है। कृपया अपनी समझदारी और सूझ बूझ के साथ ही निवेश करें। निवेश करने से पहले पंजीकृत एक्सपर्ट्स की राय जरूर लें।



Source link

Leave a Comment