कैसे म्युचुअल फंड्स में केवल ₹1000 लगाकर पाएं करोड़ों का रिर्टन, जानें पूरी डिटेल्स


How to Invest in Mutual Funds : आज की दुनिया में हर व्यक्ति की सबसे बड़ी जरूरत पैसा ही है। आजकल हर इंसान जल्द से जल्द पैसे वाला बनना चाहता है और एक आलीशान लाइफस्टाइल भी जीना चाहता है और आप भी ऐसा ही सपना देखते होंगे। जल्दी अमीर बनने के लिए लोग यहां-वहां पैसा इनवेस्ट करते हैं और सोचते हैं कि ऐसा करने वे बहुत जल्द अमीर हो जाएंगे।


WhatsApp चैनल ज्वाइन करें


Join Now

लेकिन अधिकांश केस में यह मामला उल्टा होता है और लोग अपनी खून पसीने की कमाई को गवां देते हैं। आजकल लोग म्युचुअल फंड्स में इनवेस्ट कर रहे हैं लेकिन वे इंतजार नहीं करना चाहते हैं और वे चाहते हैं कि उन्हें जल्द से जल्द अच्छा रिर्टन मिले।

आज हम आपको यहां इस आर्टिकल में आपको बताएंगे कि म्युचुअल फंड्स में किस तरह इन्वेस्टमेंट किया जाए कि आपको अच्छा रिर्टन मिल सके और आपका इन्वेस्टमेंट भी बेकार ना जाए और आपको लंबे समय तक रिर्टन मिलता रहे और आपकी लाइफ सुकून से कटे।

छोटी बचतों को करें इन्वेस्ट और पाएं बड़ा मुनाफा

अगर आप इंवेस्टमेंट की दुनिया में पहला कदम रख रहे हैं, तो छोटी सी शुरुआत से ही बड़ा फर्क पैदा किया जा सकता है। यदि आप 1 हजार रुपये से शुरू करते हैं और म्यूचुअल फंड्स में 10 प्रतिशत के रिटर्न की उम्मीद करते हैं, तो हर 12 महीने के बाद आपको इस राशि को 15 प्रतिशत बढ़ाना होगा।

इसका मतलब है कि हर साल आपकी निवेश राशि में 150 रुपये का इजाफा होगा। इस प्रकार, 13 महीने बाद यह राशि 1150 रुपये हो जाएगी और इस तरह से हर साल 15 प्रतिशत की दर से बढ़ाते जाएंगे। मान लीजिए आप 30 सालों तक ऐसा करते हैं तो 30 साल बाद आपके पास लगभग 1.30 करोड़ का फंड होगा।

इसमें एक रोचक पहलुओं में यह भी है कि अगर आपको म्यूचुअल फंड्स में 12 प्रतिशत की दर से रिटर्न मिल रहा है, तो आपको सालाना निवेश में 12 प्रतिशत की ही वृद्धि करनी होगी।

भविष्य के लिए सेफ

आपके द्वारा आज किया इन्वेस्टमेंट आपके कल को बेहतर बनाएगा। जब आप सालों बाद एक साथ बड़ा रिर्टन पाएंगे तो आपके कई काम आसान हो जाएंगे चाहे वह आपका रिटायरमेंट हो, आपके बच्चों की एजुकेशन हो या फिर आपके बच्चों की शादी हो। आपको अपनी इन्वेस्ट की गई राशि की रकम आगे आपके जीवन को आसान बनाएगी।

हालांकि, म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले, आपको ध्यान देना चाहिए कि इसमें शामिल होने वाली जोखिमों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। ध्यानपूर्वक रिसर्च करें और निवेश की योजना बनाने से पहले अपनी आवश्यकताओं को समझें। आप किसी वित्तीय सलाहकार से भी सलाह ले सकते हैं।

डिस्क्लेमर: यह जानकारी केवल सूचना के उद्देश्य से है। पूर्णत: निवेश से पहले, अपनी वित्तीय स्थिति का मूल्यांकन करें और यदि आवश्यक हो, पेशेवर सलाह लें। निवेश में जोखिम हो सकता है, और पूरी तरह से निवेशक की जिम्मेदारी है।

Disclaimer: A1Factor.Com पोस्ट के माध्यम से लोगों में फाइनेंशियल एजुकेशन प्रोवाइड कराता है। म्‍यूचुअल फंड और शेयर मार्केट निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। हम सब SEBI से पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। आप अपने पैसे को निवेश करने के लिए स्वतंत्र है। कृपया अपनी समझदारी और सूझ बूझ के साथ ही निवेश करें। निवेश करने से पहले पंजीकृत एक्सपर्ट्स की राय जरूर लें।



Source link

Leave a Comment