निवेशकों की हुई मौज ! 900 रुपए तक जा सकता है यह टाटा शेयर » A1 Factor


टाटा कंपनी का एक ऐसा शेयर जिसने मारुती सुजुकी को भी पीछे छोड़ दिया है  टाटा मोटर्स के शेयर ने मंगलवार को बाजार में बड़ी बिकवाली के बीच रिकॉर्ड हाई छूने का कमाल किया है। दिसंबर तिमाही के नतीजों से पहले शेयर 5% बढ़कर अब तक के उच्चतम स्तर 886.30 रुपये तक पहुंच गए हैं, जबकि शेयर की क्लोजिंग 859.25 रुपये पर हुई है। इस सफलता के साथ, टाटा मोटर्स ने मारुति सुजुकी को पछाड़कर भारत की सबसे मूल्यवान कार कंपनी बन गई है।


WhatsApp चैनल ज्वाइन करें


Join Now

ट्रेडिंग के दौरान इसने मारुति को मार्केट कैप में पीछे छोड़ा, जबकि मारुति का मार्केट कैप 3,13,248.72 करोड़ रुपये और टाटा मोटर्स का 2,85,515.64 करोड़ रुपये था। टाटा मोटर्स की इस बढ़ती हुई मार्केट कैप के साथ एक्सपर्ट्स भी बुलिश नजर आ रहे हैं, और आने वाले 2 फरवरी को शेयरहोल्डर्स को दिसंबर तिमाही के नतीजों की घोषणा के लिए तैयार रहना चाहिए, जो बाजार में और भी बदलाव ला सकता है।

एक्सपर्टों की सलाह: टाटा मोटर्स शेयर में निवेश का सुझाव

ब्रोकरेज फर्म प्रभुदास लीलाधर ने टाटा मोटर्स के शेयर को खरीदने की सलाह दी है, और उनके मुताबिक, शॉर्ट टर्म में शेयर की कीमत 900 रुपये के स्तर को पार कर सकती है। यह सुझाव उन्होंने इसकी कीमत 791 रुपये के समय दिया था।

इस सलाह के अलावा, मॉर्गन स्टेनली और मोतीलाल ओसवाल जैसे अन्य ब्रोकरेज फर्म भी टाटा मोटर्स के शेयर को लेकर काफी पॉजिटिव हैं। यह ब्रोकरेज फर्में शेयर के मौद्रिक स्वास्थ्य और बाजार के पूर्वानुमान के माध्यम से इसमें वृद्धि की संभावना देख रही हैं। टाटा मोटर्स द्वारा आने वाले दिसंबर तिमाही के नतीजों का इंतजार है, जिससे बाजार में और भी उतार-चढ़ाव आ सकता है। निवेशकों को ध्यान में रखते हुए, टाटा मोटर्स के शेयर में निवेश की तरफ बढ़ते वक्त आपको एक धीमी गति और सुरक्षित निवेश की सलाह मिल रही है।

जागुआर लैंड रोवर की रिकॉर्ड बिक्री से उम्मीदों में तेजी

टाटा मोटर्स के शेयर में बढ़ती है जबकि जागुआर लैंड रोवर (JLR) ने रिकॉर्ड बिक्री और यात्री वाहनों की कीमतों में बढ़ोतरी के कारण शेयर में काफी वृद्धि हुई है। पिछले 1 महीने में शेयर में 10% से ज्यादा की तेजी आई है।

टाटा मोटर्स ने पिछले सप्ताह में घोषणा की है कि वह 1 फरवरी, 2024 से अपने यात्री वाहनों की कीमतों में 0.7% की बढ़ोतरी करेगी। इसमें कंपनी के इलेक्ट्रिक वाहन भी शामिल होंगे, जिससे निवेशकों में और भी उत्साह उत्पन्न हुआ है। जागुआर लैंड रोवर की रिकॉर्ड बिक्री ने कंपनी को बाजार में मजबूती का अहसास कराया है, और इससे आगे भी शेयर में तेजी की संभावना है। निवेशकों को ध्यान में रखते हुए, यह उच्च बिक्री और बढ़ती कीमतों के माध्यम से आने वाले महीनों में और भी बदलाव आ सकता है।

टाटा मोटर्स: जागुआर लैंड रोवर डिवीजन में बढ़ती बिक्री ने बढ़ाई उत्साह

टाटा मोटर्स के जागुआर लैंड रोवर डिवीजन ने तीसरी तिमाही में अद्भुत प्रदर्शन किया है, जब इसने 1.01 लाख भोक इकाइयां बेचीं, जिससे सालाना आधार पर 27% की वृद्धि हुई है। यह न केवल एक स्वर्णिम अंकड़ा है, बल्कि पिछली 11 तिमाहियों में सबसे ज्यादा थोक बिक्री का आंकड़ा भी है।

जागुआर लैंड रोवर की डिवीजन ने बाजार में अपने उत्कृष्ट यात्री वाहनों के लिए बढ़ती मांग का फायदा उठाया है। इसमें कंपनी के उत्कृष्ट डिज़ाइन और उनकी उच्च गुणवत्ता वाली वाहनों की प्रमुख भूमिका है, जिससे उत्साही निवेशकों को आगे की तेजी की उम्मीद है। इस बढ़ती बिक्री और प्रतिष्ठित ब्रांड विवाद से, टाटा मोटर्स अपने सेगमेंट में मजबूती को बनाए रख रहा है और निवेशकों को संभावित उत्कृष्टता के साथ जुड़े रहने का एक अच्छा अवसर प्रदान कर रहा है।

टाटा मोटर्स: साणंद प्लांट में इलेक्ट्रिक वाहन निर्माण का आगाज

टाटा मोटर्स ने इस साल अप्रैल से फोर्ड इंडिया से अधिग्रहण किए गए साणंद प्लांट में इलेक्ट्रिक वाहनों का मैन्युफैक्चरिंग शुरू करने का ऐलान किया है। कंपनी की इकाई, टाटा पैसेंजर इलेक्ट्रिक मोबिलिटी लिमिटेड, ने पिछले साल जनवरी में फोर्ड इंडिया से 725.7 करोड़ रुपये में इस प्लांट का अधिग्रहण किया था।

इस अधिग्रहण के बाद, टाटा मोटर्स का लक्ष्य है इस प्लांट को एक मोड़न और तकनीकी रूप से सजीव इलेक्ट्रिक वाहन बनाने का केंद्र बनाना। यह स्टेप कंपनी के विजन को बढ़ावा देगा और स्वतंत्र भारतीय बाजार में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी को बढ़ावा देने में मदद करेगा।

इस स्थिति में, टाटा मोटर्स ने एक नई क्रियात्मक योजना बनाई है, जिससे यह प्लांट नवीनतम तकनीकी उन्नति और स्थानीय बाजार की मांगों के साथ समर्थ हो सकता है। इससे निवेशकों को और भी उत्साह मिल रहा है क्योंकि इससे नए उत्पादों की रूपरेखा बढ़ने की संभावना है और स्थानीय रोजगार का भी एक सोलिड स्रोत बन सकता है।

Disclaimer: A1Factor.Com पोस्ट के माध्यम से लोगों में फाइनेंशियल एजुकेशन प्रोवाइड कराता है। म्‍यूचुअल फंड और शेयर मार्केट निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। हम सब SEBI से पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। आप अपने पैसे को निवेश करने के लिए स्वतंत्र है। कृपया अपनी समझदारी और सूझ बूझ के साथ ही निवेश करें। निवेश करने से पहले पंजीकृत एक्सपर्ट्स की राय जरूर लें।



Source link

Leave a Comment