महीने का 500 रुपए Mutual Funds में जमा कर आप बन सकते है लखपति, यहाँ जानें डिटेल्स


म्युचुअल फंड आपके बहुत काम का होने वाला है अगर आप भी एक निवेशक हैं हर महीने सेविंग करके थोड़ा-थोड़ा जोड़कर आप पैसे जोड़ना चाहते हैं, तो यह इन्वेस्टमेंट प्लान आपके और आपके फैमिली के लिए बहुत काम का होने वाला है जिसे म्युचुअल फंड्स सेविंग भी कहते हैं।

इसमें आप छोटे अमाउंट से सेविंग्स ₹500 से भी कम से कम हर महीना जमा करके लाखों रुपए का रिटर्न बना सकते हैं। अब आगे हम जानते हैं कि आप इसे कैसे कर सकते हैं और म्युचुअल फंड में आप मंथली अमाउंट निवेश करके अधिक से अधिक मुनाफा कैसे कमा सकते हैं तो आपके लिए आगे हम जानते हैं कि Mutual Funds में मंथली SIP क्या होती है।


WhatsApp चैनल ज्वाइन करें


Join Now

MF plan कैसे पता करे!

म्युचुअल फंड एक प्रकार का सेविंग फंड प्रोग्राम होता है जो की अलग-अलग सेविंग बैंकिंग सेक्टर कंपनियों जैसे कि एलआईसी LIC, आईसीआईसी ICICI bank, Indian post bank और अलग-अलग बैंक्स के भी प्लान होते हैं अगर आप इनमें अपना पैसा मंथली इन्वेस्ट करते है । जिसे हम FD के तौर पर भी देखते हैं वैसे ही इसमें हम मंथली ₹500 से सेविंग की शुरुआत कर सकते हैं जो कि हम धीरे-धीरे अगर बढ़ाते हैं तो हमारा इंटरेस्ट रेट भी बढ़ता जाता है.

अगर हम इन्वेस्टमेंट 25 साल के लिए प्लान करते हैं तो इस स्कीम में धीरे-धीरे यह फंड लगभग 5 लाख के आसपास हो जाता है। इसका ब्याज बैंक के हिसाब से हम इसकी लास्ट अमाउंट जमा करने के बाद हमें 25 साल बाद 21 लाख रुपए तक का फंड आसानी से बनाया जा सकता है।
कुछ बैंक पॉलिसी के प्लान में 12 से 15 % और 25% से लेकर का रिटर्न होता है।

तो आप ऐसे ही sip और MF म्युचुअल फंड्स के प्लान अगर चुनते हैं तो आप किसी भी भरोसेमंद कंपनी को चुन सकते हैं जो की आपको मार्केट में सिक्योरिटी के साथ-साथ लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी भी देती है जो की एक जानी-मानी कंपनी है.

ऐसे ही बैंक्स के द्वारा भी FD, SIP, MF मयुचुअल फंड्स के प्लान बनाए गए हैं आप आपके निकटतम बैंक की ब्रांच में जाकर भी पता कर सकते हैं कि कितना प्रतिशत एवरेज ब्याज का रिटर्न किस बैंक में आपको मिलता है और श आप मिनिमम कम से कम अमाउंट कितने रुपए से शुरू कर सकते हैं।

ये प्लान में जोखिम कितना है? कैसे जाने

हम किसी भी निवेश कंपनी में अगर अपना पैसा निवेश करते हैं तो सबसे पहले उसकी जानकारी उसका पुराना इतिहास और वह कितने सालों से बाजार में है और किस-किस कंपनियों में उसकी म्युचुअल फंड पॉलिसी चल रही है. इसको देखते हुए हम अपने म्युचुअल फंड्स को प्लान करते हैं कि हमें कौन सा म्युचुअल फंड लेना है तो आप यह देख सकते हैं कि कौन सी कंपनी आपके लिए बेस्ट है किसका रिटर्न रेश्यो% अच्छा है ।

वैसे तो म्युचुअल फंड्स बाजार जोखिमों के अधीन होते हैं इसीलिए इन्वेस्टमेंट करने से पहले एक बार आपके वित्तीय सलाहकार से जरूर यह जानकारी ले लेनी चाहिए या किसी एक्सपर्ट से कि आप जिस पर पैसा लगाते हैं. तो आपको रिटर्न कैसे मिलेगा किस तरीके से आप अमाउंट लास्ट में ले सकते हैं. वह आप म्युचुअल फंड की स्कीम को कैसे समझ सकते हैं. आप आपके शहर के किसी निकटतम ब्रांच शाखा में जाकर पता कर सकते हैं।
SIP, MUTUAL FUNDS, FD आजकल हर बैंक और कुछ मार्केट में कंपनी जैसे LIC की निकटतम शाखा से जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Disclaimer: A1Factor.Com पोस्ट के माध्यम से लोगों में फाइनेंशियल एजुकेशन प्रोवाइड कराता है। म्‍यूचुअल फंड और शेयर मार्केट निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। हम सब SEBI से पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। आप अपने पैसे को निवेश करने के लिए स्वतंत्र है। कृपया अपनी समझदारी और सूझ बूझ के साथ ही निवेश करें। निवेश करने से पहले पंजीकृत एक्सपर्ट्स की राय जरूर लें।



Source link

Leave a Comment