रिटायरमेंट के बाद की टेंशन भूल जाओ आज ही ये इन्वेस्टमेंट प्लान्स अपनाओ


Retirements Plan Schemes : रिटायरमेंट प्लान बनाना व्यक्ति के जीवन में एक अत्यंत महत्वपूर्ण कदम है, क्योंकि इससे बुढ़ापे में अपनी देखभाल के लिए पर्याप्त बचत करने में सहायता मिलती है। यदि आप भी अपनी इन आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर बचत करना चाहते हैं, तो यह खबर आपके लिए महत्वपूर्ण हो सकती है।


WhatsApp चैनल ज्वाइन करें


Join Now

सेवानिवृत्ति पेंशन योजना एक ऐसी विकल्प है जो वृद्धावस्था में व्यक्ति की वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करने में सहायक हो सकती है, जिसमें चिकित्सा खर्च और घरेलू आवश्यकताएं शामिल हैं। यहां हम आपको कुछ ऐसे प्लान्स बता रहे हैं जो आपको आपकी रिटायरमेंट के बाद भी इनकम देंगे और आपके रिटायरमेंट के बाद का जीवन सुख से कटेगा।

राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (NPS)

राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली एक सरकारी योजना है जो सरकारी और निजी क्षेत्र के कर्मचारियों सहित श्रमिक वर्ग को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करती है। पहले सरकारी कर्मचारियों को ही लाभ मिलता था, लेकिन अब प्राइवेट कर्मचारियों को भी इसका लाभ हो सकता है। व्यक्ति 60 साल के होने पर, निवेशक कॉर्पस फंड से 60% निकाल सकता है, और बाकी 40% को शेष के साथ वार्षिकी योजना का एक विकल्प चुन सकता है।

बैंक डिपॉजिट्स

बैंक डिपॉजिट्स एक प्रमुख और पारंपरिक बचत तंत्र हैं, जिसमें व्यक्ति नियमित रूप से पैसे अपने बचत बैंक खातों में जमा करता है। इसके अलावा, व्यक्ति आरडी का विकल्प चुन सकता है, क्योंकि यह नियमित निवेश के साथ-साथ बचत बैंक खातों की तुलना में उच्च रिटर्न देने की अनुमति देता है। इसके अतिरिक्त, व्यक्ति सावधि जमा (FD) में भी निवेश कर सकता है।

म्यूचुअल फंड

रिटायरमेंट प्लानिंग के लिए, लंबी अवधि के आधार पर, म्यूचुअल फंड एक अच्छा विकल्प हो सकता है। इसमें 3 साल या उससे अधिक की निवेश अवधि के लिए रिटर्न 12% से 15% प्रति वर्ष के बीच हो सकता है। म्यूचुअल फंड सेवानिवृत्ति पर काफी धन प्रदान कर सकते हैं, हालांकि इससे पहले बाजार के जोखिमों का ध्यान देना जरूरी है।

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)

सार्वजनिक भविष्य निधि (पीपीएफ) एक सरकारी बचत योजना है जिसमें आप रिटायरमेंट के लिए पैसा जमा कर सकते हैं। इसमें 15 साल की अवधि होती है, और खाता कम से कम 500 रुपये से खोला जा सकता है। एक वित्तीय वर्ष में 1.5 लाख रुपये तक का निवेश किया जा सकता है, और इस पर 7.1 प्रतिशत ब्याज मिल सकता है।

Disclaimer: A1Factor.Com पोस्ट के माध्यम से लोगों में फाइनेंशियल एजुकेशन प्रोवाइड कराता है। म्‍यूचुअल फंड और शेयर मार्केट निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। हम सब SEBI से पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। आप अपने पैसे को निवेश करने के लिए स्वतंत्र है। कृपया अपनी समझदारी और सूझ बूझ के साथ ही निवेश करें। निवेश करने से पहले पंजीकृत एक्सपर्ट्स की राय जरूर लें।



Source link

Leave a Comment