₹48,000 बना ₹1 करोड़ का फण्ड, इस Multibagger Stocks ने किया कमाल… » A1 Factor


टानला प्लेटफॉर्म्स, जो एक मल्टीनेशनल क्लाउड कम्यूनिकेशंस कंपनी है, इस साल के शुरुआती महीनों में करीब 6 फीसदी के टूट के साथ आ रही है। हालांकि, इसने लॉन्ग टर्म में निवेशकों को अच्छा मुनाफा दिया है, जिसमें महज 10 साल में ही 48 हजार रुपये से कम के निवेश पर ही करोड़पति बना दिया गया है। इसके बावजूद, पिछले साल तीन महीने में इसने निवेश को ढाई गुना से अधिक बढ़ा दिया था।


WhatsApp चैनल ज्वाइन करें


Join Now

ब्रोकरेज कंपनियों की रेटिंग के अनुसार, इस शेयर पर भरोसा अब भी बना हुआ है और इसे खरीदारी की रेटिंग को बरकरार रखा गया है। निवेशकों को इस शेयर पर निवेश करने का और एक्स्ट्रा मुनाफा कमाने का मौका हो सकता है, क्योंकि पहल ने तय किया है कि हर शेयर पर 6 रुपये का डिविडेंड बांटा जाएगा।

इस डिविडेंड के लिए रिकॉर्ड डेट 5 फरवरी 2024 को फिक्स की गई है। टानला प्लेटफॉर्म्स के शेयरों की मौद्रिक मूल्य BSE पर 1037.35 रुपये में हैं। निवेशकों को इस शेयर की बेहतरीन प्रदर्शन की आस बना रहने के लिए शुभकामनाएं हैं।

Multibagger Stocks with bumper profit
Multibagger Stocks with bumper profit

10 साल में शेयरों की उड़ान: ₹48 हजार से करोड़पति बनाने का सफर

टानला प्लेटफॉर्म्स के शेयरों का अद्वितीय सफर है, क्योंकि 31 जनवरी 2014 को इसके शेयर मात्र 4.92 रुपये के स्तर पर थे और अब यह 1037.35 रुपये पर है, जिससे 10 साल में ही निवेशकों को ₹48 हजार से कम के निवेश पर ही करोड़पति बना दिया है।

पिछले साल, इस शेयर की मूवमेंट की बात करें तो, 27 मार्च 2023 को यह 506.10 रुपये पर था। तीन महीनों में, इसने अद्वितीय 160% से अधिक की वृद्धि करके 24 जुलाई 2023 को ₹1317.70 हाई पर पहुंचा। हालांकि, इस हाई से शेयरों की तेजी में थोड़ी गिरावट आई है और फिलहाल यह 21% से अधिक नीचे है। टानला प्लेटफॉर्म्स के शेयरों का यह सफर निवेशकों को बेहतरीन मुनाफा दिला रहा है और इसका प्रमाण है कि अच्छे निवेश के साथ आपका पूंजी बड़ता रहेगा।

Tanla Platforms: दिसंबर 2023 में रुझान और आगामी चुनौतियां

टानला प्लेटफॉर्म्स ने दिसंबर 2023 के तिमाही में एंटरप्राइज और प्लेटफॉर्म सेगमेंट्स में सुस्त योच का असर महसूस किया है। इसमें एंटरप्राइज रेवेन्यू पर इंटरनेशनल लॉन्ग हिस्टेंस (ILD) वॉल्यूम में गिरावट का असर दिखाई दे रहा है। इसके साथ ही, प्लेटफॉर्म रेवेन्यू पर VI नेटवर्क रेवेन्यू में भी गिरावट आई है जिसका कारण VI नेटवर्क को दबाव महसूस हो रहा है।

ILD की कीमतों में तेज उछाल ने इसके वॉल्यूम पर असर डाला, विशेषकर एंटरप्राइजेज सेगमेंट में। इसमें वाट्सऐप जैसे विकल्पों पर भी कंपनी गौर कर रही है, जिससे आने वाले समय में और भी चुनौतियों का सामना करना हो सकता है। यह स्थिति निवेशकों के लिए महत्वपूर्ण है, और वे बाजार की गतिविधियों को सावधानीपूर्वक देख रहे हैं ताकि वे सही निर्णय ले सकें।

टानला प्लेटफॉर्म्स: विभिन्न सेगमेंट्स में रुझान और विस्तार

दिसंबर 2023 के तिमाही में टानला प्लेटफॉर्म्स ने अपने विभिन्न सेगमेंट्स में रुझान और चुनौतियों का सामना किया है। एंटरप्राइज और प्लेटफॉर्म सेगमेंट में वॉल्यूम की गिरावट इंटरनेशनल लॉन्ग हिस्टेंस (ILD) वॉल्यूम की घटाएं दिखा रही है जबकि प्लेटफॉर्म सेगमेंट में VI नेटवर्क रेवेन्यू के गिरने के कारण दबाव पड़ा है।

NLD की कीमतों में उछाल एब्जॉर्ब हो चुका है और प्रमोशनल ट्रैफिक बढ़ रहा है, जिससे इसकी रेवेन्यू में भी वृद्धि हो रही है। इससे कंपनी को आने वाले समय में इस सेगमेंट में ग्रोथ की अच्छी उम्मीद है।

इसके अलावा, प्लेटफॉर्म सेगमेंट की ग्रोथ को बाइजली और टूब्लोक से सपोर्ट मिलेगा, जो एक बड़े प्राइवेट बैंक के साथ किए गए डील के माध्यम से हुई है। टानला ने अपना पहला बाइबली एटीपी डील एक बड़े प्राइवेट बैंक के साथ किया है, जिससे बाइजली नेटवर्क डील के खत्म होने का झटका संज्ञान में आयेगा।

इस तरह, टानला प्लेटफॉर्म्स ने विभिन्न क्षेत्रों में रुझानों का सामना करते हुए अपने विस्तार की योजना बनाई है और इसे सुनिश्चित करने के लिए नए उत्पादों और सेवाओं का समर्थन किया जा रहा है।

HDFC सिक्योरिटीज: आईएलडी में कमी से अधिक कटौती का अनुमान

HDFC सिक्योरिटीज ने आईएलडी (इंटरनेशनल लॉन्ग हिस्टेंस) में हो रहे सुस्ती के कारण वित्त वर्ष 2026 के लिए आईएलडी के रेग्रेन्यू में 8 फीसदी और EPS (प्रति हर हिस्सेदार) में 9 फीसदी की कटौती की है। ILD का यह सेगमेंट HDFC सिक्योरिटीज के रेवेन्यू में करीब 25 फीसदी का हिस्सा है।

ब्रोकरेज फर्म ने इस नई वित्त वर्ष में ट्रेडिंग कंपनी के लिए 1350 रुपये के टारगेट प्राइस को बरकरार रखा है, जिसका मतलब है कि वह उम्मीद कर रही है कि कंपनी के शेयरों की मूल्यमान बढ़ेगी। यह टारगेट वित्त वर्ष 2026 के अनुमानित आईपीएस (अर्थात प्रति हिस्सेदार आमदन) से करीब 23 गुना अधिक है। इसके बावजूद, हालांकि आईएलडी में सुस्ती का सामना कर रही है, ब्रोकरेज फर्म ने उम्मीद जताई है कि कंपनी के साझेदार योजनाओं और सुधारित दिशानिर्देशों के बावजूद इसमें ग्रोथ की उम्मीद है।

Disclaimer: A1Factor.Com पोस्ट के माध्यम से लोगों में फाइनेंशियल एजुकेशन प्रोवाइड कराता है। म्‍यूचुअल फंड और शेयर मार्केट निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। हम सब SEBI से पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। आप अपने पैसे को निवेश करने के लिए स्वतंत्र है। कृपया अपनी समझदारी और सूझ बूझ के साथ ही निवेश करें। निवेश करने से पहले पंजीकृत एक्सपर्ट्स की राय जरूर लें।



Source link

Leave a Comment