10 करोड़ का फंड जमा करने हेतु जानें हर महीने कितने करनी होगी SIP ? जानें कैलकुलेशन…


स्टॉक मार्केट एक ऐसी जगह है जहां कम समय में लाखों करोड़ों रुपयों का फंड तैयार किया जा सकता है, लेकिन यहां जोखिम इतना अधिक होता है कि छोटी सी गलती आपके सारे पैसे को डूबा सकती है। आज के समय में निवेश का सबसे अच्छा विकल्प म्यूच्यूअल फंड हो सकता है जिसके माध्यम से कम जोखिम और बेहतर रिटर्न के साथ आप अपने लिए एक बड़ा फंड तैयार कर सकते हैं।


WhatsApp चैनल ज्वाइन करें


Join Now

म्यूच्यूअल फंड निवेशकों को एक साझा पूल में जुटने का अवसर देते हैं, जिससे उन्हें विभिन्न शेयरों, बॉन्ड्स, या अन्य संपत्तियों में निवेश करने का मौका मिलता है। म्यूच्यूअल फंड्स की प्रबंधित पोर्टफोलियो के कारण, निवेशकों को बाजार के वोलेटिलिटी से बचने का सुझाव दिया जाता है और इससे वे अपने निवेश को सुरक्षित महसूस कर सकते हैं।

इसके साथ ही, म्यूच्यूअल फंड्स के माध्यम से निवेशकों को विशेषज्ञ प्रबंधकों की टीम का भी लाभ होता है जो बाजार की चुनौतियों और नीतियों का समर्थन करती है। इसलिए, यदि आप चाहते हैं कि आपका निवेश सुरक्षित हो और बेहतर रिटर्न प्राप्त करे, तो म्यूच्यूअल फंड एक समझदार और सुरक्षित विकल्प हो सकता है।

इक्विटी म्यूचुअल फंड: आपके लिए 10 करोड़ का फंड तैयार करने का सही तरीका

आज की डेट में काफी लोग म्यूचुअल फंड में SIP के जरिए निवेश कर रहे हैं, जबकि बहुत सारे लोग इक्विटी म्यूचुअल फंड में SIP करके करोड़पति बनने की उम्मीद कर रहे हैं। इस लेख में हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि यदि आप अपने लिए 10 करोड़ का फंड तैयार करना चाहते हो, तो इक्विटी म्यूचुअल फंड में आपको हर महीने कितनी SIP करनी चाहिए? इक्विटी म्यूचुअल फंड्स के माध्यम से धन की वृद्धि की उम्मीद रखने वाले लोगों के लिए SIP एक महत्वपूर्ण निवेश विकल्प है। जो लोग बड़े लक्ष्य जैसे 10 करोड़ के फंड की तैयारी कर रहे हैं, उन्हें अपने निवेश की दृष्टि से योजना बनाना चाहिए।

किसी भी निवेश की योजना बनाते समय व्यक्ति को अपनी आर्थिक स्थिति, लक्ष्य और निवेश की अवधि को ध्यान में रखना चाहिए। इक्विटी म्यूचुअल फंड्स में निवेश करने के लिए यदि आप 10 करोड़ का फंड तैयार करना चाहते हैं तो इसमें आपको निर्धारित समयानुसार हर महीने निश्चित राशि की SIP करनी चाहिए।

इस प्रकार, व्यक्ति की आर्थिक स्थिति का आकलन करते हुए, यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि वह सही मात्रा में और सही समय पर निवेश करें ताकि उनका निवेश सुरक्षित हो और उन्हें अच्छे रिटर्न मिलें।

म्यूचुअल फंड में निवेश: सुरक्षित और लाभकारी विकल्प

आज के दौर में हर व्यक्ति चाहता है कि वह अपने पैसे को ऐसी जगह पर निवेश करे जहां से अच्छा रिटर्न प्राप्त किया जा सके और जोखिम भी कम हो। इस तलाश में, एक सुरक्षित और लाभकारी विकल्प म्यूचुअल फंड हो सकता है।

सुरक्षित और विशेषज्ञ प्रबंधन: म्यूचुअल फंड्स में निवेश करने से व्यक्ति अपने पैसे को विशेषज्ञ प्रबंधकों की टीम के हवाले करता है, जो बाजार की चुनौतियों को समझते हैं और अच्छे रिटर्न की समर्थना करते हैं।

SIP का उपयोग: म्यूचुअल फंड्स में निवेश के लिए SIP (Systematic Investment Plan) सबसे लोकप्रिय तरीका है। इसके माध्यम से व्यक्ति मात्र 500 रुपए से शुरू कर सकते हैं और नियमित अंतराल में निवेश करके अच्छे रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं।

लिक्विडिटी और विविधता: म्यूचुअल फंड्स लिक्विड होते हैं, जिससे निवेशकों को अपने पैसे को किसी भी समय निकालने में सुविधा होती है। इसके साथ ही, विभिन्न फंड्स विभिन्न विषयों में निवेश करने का भी सुयोग मिलता है, जिससे निवेशक अपनी प्राथमिकताओं के अनुसार चयन कर सकते हैं।

मिनीमम इन्वेस्टमेंट एंड डिवर्सीफिकेशन: म्यूचुअल फंड्स में निवेश करने के लिए आपको बड़ी राशि की आवश्यकता नहीं है, जिससे छोटे निवेशक भी इसमें शामिल हो सकते हैं। इसके साथ ही, विभिन्न सेक्टर्स और संपत्तियों में निवेश करने से डिवर्सीफिकेशन होती है और जोखिम कम होता है।

लक्ष्य सुनिश्चित करें: आपके निवेश की कुंजी

यदि आप 10 करोड़ रुपए का फंड तैयार करना चाहते हैं, तो सबसे पहले आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप इस लक्ष्य को कितने सालों में हासिल करना चाहते हैं

लक्ष्य का समयांतर का निर्धारण करना हमें यहां तक पहुंचाएगा कि किस प्रकार का निवेश और कितना मात्रा में होना चाहिए। आपका निवेशक लक्ष्य 10 साल, 20 साल, या 40 साल का हो सकता है। इसलिए, आपको इसे स्पष्ट रूप से समझना और तय करना होगा। लक्ष्य का समयांतर निर्धारित करने के बाद, आप यह तय करेंगे कि आपने इस मुद्दे के लिए कितना निवेश करना है और इसमें हर महीने कितनी राशि SIP के माध्यम से निवेश करनी है।

लक्ष्य निर्धारित करने के बाद, आप संभावना से भरपूर रिटर्न प्राप्त करने के लिए उचित योजना बना सकते हैं और सही समय पर निवेश करके आप अपने लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं। साथ ही, यह आपको संबंधित जोखिमों से बचाने में मदद करेगा और आपको एक सुरक्षित और सफल निवेश की दिशा में मार्गदर्शन करेगा।

20 साल में 10 करोड़ का फंड: संभावना और निवेश की राह

यदि आपका लक्ष्य 20 साल में 10 करोड़ रुपए का फंड इकट्ठा करना है, तो आइए इसका कैलकुलेशन समझते हैं। म्यूचुअल फंड्स के माध्यम से SIP के जरिए आप आसानी से 12% का रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। यदि हम 12% सालाना रिटर्न के साथ गणना करें, तो आपको हर महीने 1 लाख रुपए की SIP करनी होगी। यह एसआईपी को अगले 20 सालों तक जारी रखना होगा।

20 साल की अवधि पूरी होने पर आपका कुल निवेश 2,40,00,000 रुपए होगा, जबकि ब्याज के तौर पर आपको 7,59,14,792 रुपए मिलेंगे। इस प्रकार, आपकी मेहनत और निवेश के माध्यम से आपका लक्ष्य पूरा होगा और आप मैच्योरिटी के लगभग 10 करोड़ रुपए प्राप्त करेंगे।

इस योजना से सिद्ध होता है कि सही रणनीति और नियमित निवेश के माध्यम से आप अपने वित्तीय लक्ष्यों को हासिल कर सकते हैं। सही मार्गदर्शन के साथ इस प्रकार के निवेश से आप अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत बना सकते हैं।

28 साल में 10 करोड़ का फंड: दीर्घकालिक निवेश की सफल योजना

आगर 28 साल की अवधि के लिए निवेश की जाए और 15% तक का रिटर्न प्राप्त किया जाए, तो आपको हर महीने 20,000 रुपए की SIP करनी होगी। यह दीर्घकालिक निवेश की अवधि में संभावना है जिससे आप अपने लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं।

28 सालों के बाद, आपकी कुल निवेश की राशि 67.2 करोड़ रुपए होगी, जबकि कंपाउंडिंग सहित आपको ब्याज के रूप में 9.7 करोड़ रुपए मिलेंगे। इस प्रकार, आपके पास मैच्योरिटी पर 10.4 करोड़ रुपए का फंड होगा।

यह योजना दीर्घकालिक निवेश की शक्ति को दर्शाती है और सुनिश्चित रूप से आपको वित्तीय स्वतंत्रता प्रदान कर सकती है। इसमें यह भी दिखाया गया है कि आपके निवेश में कंपाउंडिंग की माध्यम से अधिकतम लाभ कैसे हो सकता है और यह एक समर्पित निवेशकों के लिए सतत धैर्य और नियमित निवेश की महत्वपूर्णता को प्रमोट करता है।

Disclaimer: A1Factor.Com पोस्ट के माध्यम से लोगों में फाइनेंशियल एजुकेशन प्रोवाइड कराता है। म्‍यूचुअल फंड और शेयर मार्केट निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। हम सब SEBI से पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। आप अपने पैसे को निवेश करने के लिए स्वतंत्र है। कृपया अपनी समझदारी और सूझ बूझ के साथ ही निवेश करें। निवेश करने से पहले पंजीकृत एक्सपर्ट्स की राय जरूर लें।



Source link

Leave a Comment