Paytm पेमेंट बैंक का लाइसेंस रद्द ? जानें असली कारण इतना क्यों सख्त हुआ RBI


अभी के समय में ऑनलाइन पेमेंट बैंक पेटीएम की मुश्किल है लगातार बढ़ती चली जा रही है। ऐसा कयास लगाया जा रहे हैं कि पेटीएम पेमेंट बैंक का लाइसेंस आरबीआई पूरी तरीके से रद्द करने जा रहा है। आखिर इसके पीछे का कारण क्या है। आरबीआई हाथ धोकर पेटीएम के पीछे आखिर क्यों पड़ा हुआ है। आइए इसके पीछे के असली कारण के बारे में जानते हैं…


WhatsApp चैनल ज्वाइन करें


Join Now

जैसा कि आपको पता है 2 दिन पहले से ही आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट बैंक पर ट्रांजैक्शन या फिर किसी प्रकार की डिपॉजिट पर पूरी तरीके से प्रतिबंध लगा दिया है। अब मीडिया में यह भी खबर आ रही है कि आरबीआई पेटीएम पेमेंट बैंक के ऑपरेटिंग लाइसेंस को भी रद्द करने जा रही है।

क्यों बंद हुआ Paytm Payment Bank

पेटीएम पेमेंट बैंक के ट्रांजैक्शन बंद होने के साथ ही पेटीएम का शेयर लगातार नीचे आते दिख रहा है। इस शेर की खरीदारी कोई भी नहीं कर रहा है जिसकी वजह से लगातार इसमें लोअर सर्किट देखने को मिल रहे हैं। आरबीआई द्वारा पेटीएम को बैन लगाने का सबसे प्रमुख कारण है कस्टमर डॉक्यूमेंटेशन नियमों का दुरुपयोग और मटेरियल ट्रांजैक्शन का खुलासा कस्टमर को ट्रांसपेरेंसी के रूप में शामिल न करना।

हालांकि अभी तक पेटीएम के रिप्रेजेंटेशन के आधार पर अंतिम फैसला होना बाकी है। वहीं दूसरी तरफ पेटीएम पेमेंट बैंक के प्रवक्ता का कहना है कि आरबीआई को कंप्लायंस और सुपरवाइजर निर्देशों पर भी ध्यान देना चाहिए। इसके बाद से जो उनका फैसल होगा वह भी मान्य होगा।

RBI की सख्ती का कारण

पेटीएम पेमेंट बैंक को लेकर आरबीआई ने इस शक्ति को क्यों पड़ता है इसका खुलासा भी सामने हुआ है। दरअसल पेटीएम पेमेंट बैंक ने हजारों ग्राहक को का केवाईसी दस्तावेज आरबीआई को जमा नहीं कराया था। वहीं कुछ मामले ऐसे भी आए जहां ग्राहक को पंजीकृत करने के लिए एक सिंगल पहचान का उपयोग किया गया और इन अकाउंट्स से लाखों रुपए का लेन-देन भी केवल मिनिमम केवाईसी अकाउंट पर किए गए। ऐसे में यह मनी लॉन्ड्रिंग की चिंता भी हो सकती है।

Disclaimer: A1Factor.Com पोस्ट के माध्यम से लोगों में फाइनेंशियल एजुकेशन प्रोवाइड कराता है। म्‍यूचुअल फंड और शेयर मार्केट निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। हम सब SEBI से पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। आप अपने पैसे को निवेश करने के लिए स्वतंत्र है। कृपया अपनी समझदारी और सूझ बूझ के साथ ही निवेश करें। निवेश करने से पहले पंजीकृत एक्सपर्ट्स की राय जरूर लें।



Source link

Leave a Comment