Paytm हुआ बैन! ग्राहकों पर टुटा मुसीबत का पहाड़, जमा पैसे का क्या होगा?


भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (PPBL) पर फरवरी के बाद किसी भी ग्राहक खाते, वॉलेट, और FASTags में जमा या टॉप-अप स्वीकार करने पर लगाए गए प्रतिबंध को समाप्त करने का एलान किया है। रिजर्व बैंक ने इस कदम को एक व्यापक सिस्टम ऑडिट रिपोर्ट के बाद लेने का निर्णय लिया है, जिससे समाज में विश्वास बना रहे।


WhatsApp चैनल ज्वाइन करें


Join Now

इस कार्रवाई के पीछे मुख्य कारण रहा बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 की धारा 35ए, जिसके तहत RBI ने अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए इस प्रतिबंध को लागू किया। अब से, पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड के ग्राहकों को उनके खातों में जमा या टॉप-अप करने में कोई रुकावट नहीं होगी।

यह निर्णय वित्तीय प्रणाली में सुधार की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है, जिससे लोगों को विश्वास और सुरक्षा की भावना होगी। इससे सामाजिक और आर्थिक उन्नति को बढ़ावा मिलेगा और डिजिटल लेन-देन में बदलाव को बढ़ावा मिलेगा।

पेटीएम पेमेंट्स बैंक पर RBI का प्रतिबंध हटाने का निर्णय: वित्तीय सुरक्षा में सुधार का संकेत

पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (PPBL) के खिलाफ रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने फरवरी के बाद इसे प्रतिबंधित करने पर उठाए गए प्रतिबंध को हटाने का निर्णय लिया है। रिजर्व बैंक ने इस कदम को एक व्यापक प्रणाली ऑडिट रिपोर्ट और चाहरी ऑडिटरों की अनुपालन सत्यापन रिपोर्ट के आधार पर उठाया है।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने बुधवार को एक बयान में बताया कि इन रिपोर्टों से आई चिंताएं वित्तीय सुरक्षा में नियमों के गैर-अनुपालन और सामग्री पर्यवेक्षण के क्षेत्र में थीं। यह निर्णय दिखाता है कि RBI ने इसे वित्तीय प्रणाली में सुधार के माध्यम से सुरक्षा स्तर को बढ़ावा देने का उद्देश्य रखा है।

आरबीआई के इस कदम से आगे की निरीक्षण कार्रवाई की जरूरत पड़ी है, जिससे बैंक में लगातार नियमों के गैर-अनुपालन और सुरक्षा के क्षेत्र में सुधार किया जा सके। यह निर्णय वित्तीय संस्कृति में सुधार की प्रक्रिया को पुनर्जीवित करने की दिशा में एक प्रमुख कदम है।

रिजर्व बैंक के निर्देश पर पेटीएम पेमेंट्स बैंक: नए नियमों की जानकारी

केंद्रीय बैंक ने एक आधिकारिक बयान में जारी करते हुए कहा है कि 29 फरवरी, 2024 के बाद पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (PPBL) के ग्राहकों को किसी भी ग्राहक खाते, प्रीपेड माध्यम, वॉलेट, फास्टैग, एनसीएमसी कार्ड आदि में जमा या क्रेडिट लेनदेन या टॉप अप की अनुमति नहीं दी जाएगी। हालांकि, ब्याज, कैशबैक, या रिफंड को कभी भी जमा किया जा सकता है।

इस निर्देश के तहत, आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक के ग्राहकों को बचत बैंक खाते, चालू खाते, प्रीपेड माध्यम, फास्टैग, और नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (एनसीएमसी) सहित अपने खातों से शेष राशि की निकासी या उपयोग की अनुमति देने का एलान किया है। इससे ग्राहकों को निर्धारित समय में निकासी की स्वतंत्रता मिलेगी और वित्तीय सुरक्षा को बढ़ावा मिलेगा। 

पहले मार्च 2022 में, आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक को तत्काल प्रभाव से नए ग्राहकों को जोड़ने से रोक दिया था, जिससे सुरक्षित डिजिटल लेन-देन की दिशा में कदम उठाया गया।

पेटीएम शेयर में मामूली गिरावट: बुधवार को बाजार में थी सुस्ती

इस सप्ताह के तीसरे कारोबारी दिन, बुधवार को पेटीएम के शेयर में सुस्ती देखने को मिली। ट्रेडिंग के अंत में, शेयर की कीमत में मामूली गिरावट होकर 761 रुपये पर पहुंची। ट्रेडिंग के दौरान, इस शेयर ने अपने 774 रुपये के हाई को छूने का भी मौका देखा। 

20 अक्टूबर 2023 को शेयर ने अपने 52-सप्ताहीय उच्चतम मूल्य को छूने का कारगर प्रदर्शन किया था, जब इसने 998.30 रुपये का चौंकाने वाला स्तर दर्ज किया था। हालांकि, बुधवार की मामूली गिरावट ने बाजार में थोड़ी सी दबाव बनाई, जिससे निवेशकों को नए करेंसी मूव्स की दिशा में सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

बाजारी गतिविधियों को समझते हुए, निवेशकों को शेयर की कीमत में आने वाली बदलावों की निगरानी रखनी चाहिए, ताकि वे सही समय पर निवेश या निवेश से बाहर निकल सकें।

Disclaimer: A1Factor.Com पोस्ट के माध्यम से लोगों में फाइनेंशियल एजुकेशन प्रोवाइड कराता है। म्‍यूचुअल फंड और शेयर मार्केट निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है। हम सब SEBI से पंजीकृत वित्तीय सलाहकार नहीं हैं। आप अपने पैसे को निवेश करने के लिए स्वतंत्र है। कृपया अपनी समझदारी और सूझ बूझ के साथ ही निवेश करें। निवेश करने से पहले पंजीकृत एक्सपर्ट्स की राय जरूर लें।



Source link

Leave a Comment